सूचना

यह वेब पेज इन्टरनेट एक्सप्लोरर 6 में ठीक से दिखाई नहीं देता है तो इसे मोजिला फायर फॉक्स 3 या IE 7 या उससे ऊपर का वर्जन काम में लेवें

Thursday, October 19, 2017

दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं



 सभी देशवासियो,पाठकों को दीपावली 2017 की हार्दिक शुभकामनाएं
 

सुख समृद्धि तथा एश्वर्य का प्रतीक पावन "दीपोत्सव" आपके लिए सपरिवार मंगलमय हो!
इस पर्व के शुभ अवसर पर आपको ढेर सारी शुभकामनाएं एवं उज्ज्वल भविष्य का कामना। 
आप व आपके परिवार के लिए यह पर्व हर्ष,उल्लास, खुशी ,उमंग के 
साथ  आए तथा प्रसन्नता अविराम आपके जीवन में 
सौदर्य मण्डित करती रहे। 
आने वाले वर्ष में आपकी और आपके अपनों की कीर्ति चहुं ओर फैले! 
आप जीवन में ऊँचाईयों को प्राप्त करें।
आपका जीवन सदैव उन्नति की और अग्रसर रहे
 इन्ही मंगल कामनाओं के साथ
 
 
 
" दीपावली मुबारक"
" दीपावली की हार्दिक बधाईयां "
" HAPPY DEEPAWALI "
आपके पढ़ने लायक यहां भी है।

कानो सुनी को होते देख लिया बुंदिया बाबा बगड़

वाघा (बाघा) बार्डर परेड,अमृतसर

अमृतसर, स्वर्ण मंदिर दर्शन

घुमंत् फिरत चलो मां वैष्णो देवी के दरबार

अन्दाज अपना-अपना (मानव जाति के शौकीन आधुनिक पूर्वज)

मायड़ भाषा राजस्थानी री शान बढ़ावण हाळा ब्लॉग

लक्ष्य

Sunday, September 24, 2017

मां मेरे भी सर सर पे अपना हाथ रख दे

या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता । 
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
   "सदा भवानी दाहिनी सन्नमुख रहत गणेश, पांच देव रक्षा करें बह्मा, विष्णु, महेश"
 सबसे पहले सभी देशवासियों, पाठकों  को नव रात्री पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं ।
आप सबको मालुम है नवराता नौ दिन तक चलता हैं और इन नौ दिनों में माता के अलग अलग नौ रूपों की पूजा की जाती हैं जिसकी पोस्ट मै। पहले लिख चुका हुं।  इन  नौ दिनों में सभी माता भक्तों के मुंह पर माता के जयकारे रहते हैं और मन्दिरों के अलावा घर घर में माताएं बहने सभी नवरात्रा घट स्थापना करते हैं और नौ दिनों तक माता की पूजा अर्चना करते हैं तथा व्रत रखकर माता से मन मांगा वर पाते हैं

हर वर्ष की भातिं इस वर्ष भी बगड़ नगर में माता भवानी के दरबार सजाये गयें है। वैसे तो लगभग हर घर में माता की घट स्थापना हो रही हैं लेकिन मुख्य रूप से बगड़ में अब की बार तीन के स्थान पर छः जगह मन्दिरों में माता के दरबार सजाये गये है। जिनमें दो पहले हर वर्ष सजाये जाते रहे हैं 1 तो बगड़ के पुराने दुर्गा मन्दिर,

 दुसरे फतेहसागर तालाब के पास और इस बार छटी बार  खटीकान मौहल्ला के  अलावा नई जगह  निर्मल मौहल्ला जाटाबास में भी मां भवानी का दरबार सजाया गया। पहले नवराते के दिन कलश यात्रा के द्वारा बगड़ में की गई घट और मां की मूर्ति स्थापना कलश यात्रा भव्य रैली में बगड़ की माताएं बहने अपने सर पर रंगोली से सुसज्जित कलश रखकर बगड़ की गलियों में चक्कर लगाकर माता के भजनों पर डीजे के साथ नाचते गाते घट स्थापना कर दरबार सजानें में चार चांद लगा रही हैं माता के आशीर्वाद को पाने के लिए हमारा बगड़ नगर कैसे दूर रह सकता है।  बगड़ के पश्चिम दिशा में फतेह सागर तालाब के पास भी माता का भव्य दरबार सजाया गया हैं और यहां नौ दिनों तक सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ साथ मृदुल भजन सध्या का आयोजन किया जायेगा। आज इन तीनों  ही जगह सेकड़ों माता भक्तों ने आज माता के दरबार में अपना मत्था टेक मां से अभयदान, सुख समृद्धि, और अमन- चैन  मुराद मांगी।
आरती के समय फतेह सागर तालाब पर स्थित दरबार में काफी संख्या में भक्त जन इकट्ठा होत  है।





दुर्गा माता के आरती कर्ता पुजारी जी के साथ माता का आशीर्वाद लेते हुए  
मैं मेरे मित्र शंकर लाल योगी के साथ माता के दर्शनों लाभ उठाने गया था
माता का प्रसाद गृहण करते हुए
  मैने भी इन जगह जाकर माता के भजनों व दर्शनों का अनुपम लाभ उठाया
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मुझे भी माता की आरती में जाने का सौभाग्य मिला  
मैने माता की आरती के फोटो औ आरती की विडियों बनाई जो आपके साथ शेयर कर रहा हूं। 

आपके पढ़ने लायक यहां भी है।

कानो सुनी को होते देख लिया बुंदिया बाबा बगड़

वाघा (बाघा) बार्डर परेड,अमृतसर

अमृतसर, स्वर्ण मंदिर दर्शन

घुमंत् फिरत चलो मां वैष्णो देवी के दरबार

अन्दाज अपना-अपना (मानव जाति के शौकीन आधुनिक पूर्वज)

मायड़ भाषा राजस्थानी री शान बढ़ावण हाळा ब्लॉग

लक्ष्य

अन्य महत्वपूर्ण लिंक

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...