सूचना

यह वेब पेज इन्टरनेट एक्सप्लोरर 6 में ठीक से दिखाई नहीं देता है तो इसे मोजिला फायर फॉक्स 3 या IE 7 या उससे ऊपर का वर्जन काम में लेवें

Thursday, October 6, 2011

प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी, बगड़

सबसे पहले आपको विजय दशमी ( दशहरा) की हार्दिक शुभकामनाएं 
साथ में  नवरात्रों की भी हार्दिक शुभकामनाएं
फिर पहले आपसे माफी मांगना चाहुंगा खेत में लावणी (फसल कटाई)में लगे होने के कारण काफी दिनों सें कोई पोस्ट नहीं लिख पाया 
 "सदा भवानी दाहिनी सन्नमुख रहत गणेश पांच देव रक्षा करें बह्मा, विष्णु, महेश"
आज मैं आपको बगड़ में नवरात्रों में दो जगह मां अम्बे के दरबार सजाये गये जहां मैं कुछ टाईम निकालकर पहुचा और माता के आशीर्वाद के साथ साथ आप लोगों के साथ शेयर करने के लिए कुछ सामग्री भी इंकट्ठी की वों में आप लोगों के साथ शेयर करना चाहुगां, जिस पर मैने पिछली साल भी एक पोस्ट लिखी थी
 धार्मिक नगरी बगड़ में फतेह सागर तालाब और दुर्गा मन्दिर बगड़ में दोनों जगह हर वर्ष नवरात्रों में माता का भव्य दरबार सजाया जाता हैं और नो दिन तक माता की पूजा अर्चना की जाती है। 

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी फतेहसागर तालाब के पास स्थापित मां अम्बे की प्रतिमा व दरबार का नजारा तों देखने लायक  था  ये आयोजन फतेह सागर नव दुर्गा कमेटी द्वारा किया जाता है। और यहां नवमी के दिन विशाल भण्डारे का आयोजन भी किया जाता है। यहां इस स्थल पर पिछले चार वर्षो से इस   आयोजन  को किया जा रहा है। आज इस प्रतिमा का विर्षजन फतेह सागर तालाब में सांय किया जावेगा।
 और यहां हर वर्ष की तुलना में इस वर्ष बहुत ही काफी संख्या में भक्तजन उपस्थित हुए और यहाँ नो दिनों तक रात्रि में भजन संध्या का आयोजन किया जाता है। माता के मधुर भजनों का आनन्द उठाने और माता के दर्शनों के लिए आस पास के गांवों के लोग भी उमड़ पड़ते है।
 भक्त जनों से खचाखच भरा माता का दरबार
 यहां उपस्थित भक्तजनों को फोटों में देखकर आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि कितनी आस्था है आज भी लोगों के मन में अपने धर्म देवों के लिए दरबार खचाखच भरा हुआ था
 वहां काफी संख्या में माता भक्तजन ने वहा हो रही आरती का लुप्त उठाया और माता के दर्शन कर अपना जीवन धन्य बनाया
मैं भी पहुचा वहां माता का आशीर्वाद लेने के लिए


 वहीं दुसरी तरफ  
बगड़ के पुराने दुर्गा मन्दिर जो दुर्गा मार्केट के पास स्थापित जहां हर वर्ष नवरात्रों में मां की प्रतिमा स्थापित की जाती हैं तथा नो दिनों तक उसकी विधिनुसार उसकी पूजा अर्चना कर नो दिन बाद उसका बड़े ही हर्षोल्लास के साथ विर्षजन किया जाता है।
 


 सजाय गया दरबार और और माता की प्रतिमा स्वर्ग के सामान सुन्दर और मन मोहक लग रही थी यहा पर हो रहें सांसकृतिक प्रोग्राम को भक्त जनों ने जमकर लाभ उठाया


 माता आप सभी पर भी अपनी असीम कृपा बनाये रखे इन्हीं शुभकामनाओं के साथ इजाजत चाहुंगा।

 अगली पोस्ट माता की आरती के विडियों के साथ




आपके पढ़ने लायक यहां भी है।

एक शाम गणपति बप्पा के नाम पीरामल गेट बगड़

 गणेश चतुर्थी महोत्सव शुरू, पीरामल गेट,बगड़

     राखी का त्यौहार भाई बहन का प्यार

  किसानों ने उठाया अपना टूल (औजार) मालीगांव

जहां आकर मन को शान्ति मिले ,दुर्गाष्टमी पर बगड़ में सजा मां दुर्गे का दरबार

 
 

अन्य महत्वपूर्ण लिंक

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...