सूचना

यह वेब पेज इन्टरनेट एक्सप्लोरर 6 में ठीक से दिखाई नहीं देता है तो इसे मोजिला फायर फॉक्स 3 या IE 7 या उससे ऊपर का वर्जन काम में लेवें

Friday, August 11, 2017

चौली (चुली )की फ़सल का रख रखाव

मालीगांव  Maligaon
चुली की फ़सल के नाल तोड़ते हुए
क्या आप जानते है चुली की फसल में पैदावर ज्यादा कैसे बधाई जा सकती है ?? वो भी देशी नुख्से से!!!
चुली की फसल सबसे कम समय मे पक कर तैयार हो जाती है इसके पकने के समय 50 से 60 दिनों का माना जाता है  इसे न ज्यादा बरसात प्रभावित करती है न कम ये औसतन बारिश में भी अच्छी पैदावार देती है बस किसान को इसे बोन के बाद थोड़ा ध्यान देन होता है जब इस (चुली) फसल का पौधा अपने यौवन काल मे जब अपने नाल (लताये) फैलाने लगता है तो उसे ऊपर से तोड़ दिया जाना चाहये ताकि इसमे फल फलिया अच्छी आ सके। और पैदावार भी अच्छी हो।




इसी के चलते मै भी अपने खेत मे बोई गई चुली की फ़सल के नाल तोड़ने का काम आज कर रहा हु ताकि पैदावार बढ़ सके।
धन्यवाद
जय किसान
जय भारत




अगर ये नाल नही तोड़ेंगे तो ये आपस मे एक दूसरे के लिपट जायेगे ओर आपस मे गुत्था गुत्थी हो जायेगे ओर राजस्थनी भाषा मे गरफ़ान चढ़ जायेगे ओर फल (फलिया)कम लगेगी। ओर लावणी भी कठनाई से होगी।

चुली की फ़सल के नाल तोड़ते हुए विडियो
By :-
Surendra Singh Bhamboo   सुरेन्द्र सिंह भाम्बू

आपके पढ़ने लायक यहां भी है। 


खेजड़ी वृक्ष की महिमा जो आज खतरे में है....

राजस्थान का गौरव कल्प वृक्ष कहा जाने वाला वृक्ष खेजड़ी (जांटी) है खतरे में ??

शेखावाटी का प्रसिद्ध रसदार खाद्य फल,पील

हीरा तो चमके बाळू रेत म।

 31 दिसम्बर लाईन का खात्मा सबके जहन में घुमती रही मोदी की आत्मा

लक्ष्य

अन्य महत्वपूर्ण लिंक

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...