सूचना

यह वेब पेज इन्टरनेट एक्सप्लोरर 6 में ठीक से दिखाई नहीं देता है तो इसे मोजिला फायर फॉक्स 3 या IE 7 या उससे ऊपर का वर्जन काम में लेवें

Friday, March 18, 2016

प्यारा सजा है बाबा का दरबार,बगड़

फागुन का महिना चल रहा है और इस माह का अपना एक अलग ही अंदाज़ है चारो तरफ मस्ती सी छाई रहती है क्योकि इसी माह में एक तो रगों का त्यौहार होली आता है जो अपने आप में एक अनूठा रंग लिए हुए है और इसी माह ही  जन जन के चहेते लोक प्रिय देवता  बाबा श्याम का जन्म दिन भी आता है जो खाटू नगरी में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है यहाँ सालाना कई लाखो में दर्शक बाबा के दर्शन करने आते है,इसी कड़ी में हमारा नगर बगड़ कैसे पीछे रह सकता है
 बगड़ में भी एक कई सालो पुराना बाबा श्याम का मंदिर है और हर वर्ष यहाँ भी  बाबा का वार्षिको उत्सव  बड़ी धूम धाम से बड़े हर्षौल्लाश के साथ मनाया जाता है इस वर्ष भी बगड़ श्याम मंदीर का वार्षिकोत्सव शुक्रवार से शुरू होने जा रहा है जिसमे विभिन्न प्रकार के सांस्क्रतिक प्रोग्राम होगे उनमे आपकी उपस्थिति के लिए निमन्त्रण  व् प्रार्थना है प्रोग्राम कुछ इस प्रकार से है
श्री श्याम मंदीर का 41 वां चार दिवसीय वार्षिकोत्सव शुक्रवार से शुरू होगा।



दिनाक 18 मार्च 2016 शुक्रवार को रात्री सवा सात बजे से भजन संध्या होगी
जिसमें अलग अलग जगह के कलाकार अपनी प्रस्तुतिया देगे जो निम्न है
श्याम अग्रवाल, बालकृष्ण शर्मा, संजय शर्मा,
शुभम् आर रूपम, सौरव अग्रवाल कलकत्ता,
रविश पंडित मुम्बई, विवेक अग्रवाल यूपी,
राधा शाह फतेहाबाद,
सुनील जोशी कटक ,
ऋतु पंचाल भजनों की प्रस्तुतियां देगे।
दिनाक 19 मार्च 2016 शनिवार को दोपहर सवा एक बजे से बाबा श्याम की शोभायात्रा मनमोहक झांकी निकाली जायेगी।
झांकी में राजन साजन एंड पार्टी रेवाड़ी व
महादेव आर्ट ग्रुप सिरसा द्वारा मनमोहक झाकिया दिखाई जायेगी। तथा विशेष आकर्षण ऊट ओर घोड़ी का  नाच होगा तथा फतेहपुर की चंग ढफ मंडली द्वारा चग व ढफ पर न्रत्य होगा
19 मार्च को रात्री एकादशी पर श्याम मंदिर परिशर के सामने भजन संध्या होगी
जिसमें अमृतनाथ आश्रम फतेहपुर के विकास नाथ महाराज भजनों की प्रस्तुति देगे
तथा दादू द्वारा के महामंडलेश्वर स्वामी अर्जुनदास प्रवचन करेगे।


 इस विशेष मोके पर बाबा का दरबार बहुत ही मन मोहक तरीके से सजाया गया है ये आकर्षक सजावट का कार्य बंगाली कारीगरो द्वारा किया गया है जो वहा से गुजरने वाले राहगीर को दो पल रुककर देखने के लिए विवश कर देता है
दोस्तों अब इज़ाजत प्रोग्राम की झलकिया आगे की पोस्ट में तब तक के लिए इज़ाजात...




आपके पढ़ने लायक यहां भी है।

महाशिवरात्रि पर्व की हार्दिक शुभकामनाये

कुछ दोस्त बहुत याद आते है..

 जमाना ले बैठ्या....

 राजस्थानी (मारवाड़ी) लोक (गीत) गायन तेजा

  लुप्त होती भारतीय संस्कृति- इसे बचाये पर कैसे ?


 

लक्ष्य


अन्य महत्वपूर्ण लिंक

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...