सूचना

यह वेब पेज इन्टरनेट एक्सप्लोरर 6 में ठीक से दिखाई नहीं देता है तो इसे मोजिला फायर फॉक्स 3 या IE 7 या उससे ऊपर का वर्जन काम में लेवें

Monday, October 15, 2018

आये नवराते माता के,नव रात्री स्पेशल

काली माता मन्दिर
 या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता । 

   "सदा भवानी दाहिनी सन्नमुख रहत गणेश, पांच देव रक्षा करें बह्मा, विष्णु, महेश" सबसे पहले सभी देशवासियों, पाठकों  को नव रात्री पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं ,आपको व आपके परिवार को मां वैष्णो  देवी के पावन पर्व नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाये मां दुर्गा आपकी हर मनोकामना पुर्ण करे

आप सबको मालुम है नवराता नौ दिन तक चलता हैं और इन नौ दिनों में माता के अलग अलग नौ रूपों की पूजा की जाती हैं जिसकी पोस्ट मै। पहले लिख चुका हुं।  इन  नौ दिनों में सभी माता भक्तों के मुंह पर माता के जयकारे रहते हैं और मन्दिरों के अलावा घर घर में माताएं बहने सभी नवरात्रा घट स्थापना करते हैं और नौ दिनों तक माता की पूजा अर्चना करते हैं तथा व्रत रखकर माता से मन मांगा वर पाते हैं


बगड़ नवरात्रि महोत्सव ,हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बगड़ में पांच जगह दुर्गा जी की मूर्ति स्थापना की गई है जहा रोजाना सुबह शाम आरती व पूजा अर्चना की जाती है और ये नो दिन तक चलती है नवे दिन विशाल झांकियों के साथ इन मूर्तियों का विषर्जन फतेहसागर तालाब में किया जाता है यहाँ हर पंडाल पर रोज हजारों श्रद्धालु माँ अम्बे की आरती ओर दर्शनों का लाभ उठाते है
ये पांच स्थान जहाँ दुर्गा पूजा व घट मूर्ति स्थापना की गई है।
1 दुर्गा मिन्दर बगड़
2 फतेहसागर तालाब के पास बगड़
3 कालीमाता मंदिर जगदम्बा कॉलोनी बगड़
4 खटीकान मोहल्ला चोक बगड़
5 निर्मल मोहल्ला बड़ के नीचे जाटाबास बगड़
आपको एक एक करके इन सभी जगहों के आरती के दर्शन लाइव करवाने का प्रयास किया जाएगा आशा है आपको पसंद आएगा


आज दुर्गा मंदिर बगड़ में मां अम्बे की आरती के दर्शन आपको करवा रहा हु आशा है आपको पसंद आएगा
लाइव आरती देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें  
आस पास की खबरे व चटपटी जानकारी के लिए इस लिंक पर इस चैनल SNCA BAGAR को सब्सक्राइब जरूर करें
SNCA BAGAR
 इसी तरह आपको हर रोज हर दरबार की अलग अलग आरती के  लाईव  दर्शनकरवाये जायेगें


आशा आपको पोस्ट पंसद आयेगी
आज के लिए इतना ही इन्तजार करें अगली पोस्ट का नई आरती दर्शन के लिए तब तक के लिए इजाज़त


 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
आपके पढ़ने लायक यहां भी है।  

  आपा डोलर में हिडांगां आपा चकरी मैं बैठांगा मेला बगड़,लक्ष्य के इंजॉय के कुछ

 सावन सुरंगी आई तीज तीज की हार्दिक शुभकामनाएं

राजस्थान का मेवा फल सांगरी स्वाद बे मिशाल

राजस्थान का गौरव कल्प वृक्ष कहा जाने वाला वृक्ष खेजड़ी (जांटी) है खतरे में ??

शीतला सप्तमी क्यों मनाई जाती है एक दन्त कथा

लक्ष्य


अन्य महत्वपूर्ण लिंक

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...